Olefia Biopharma Ltd

    कुमकुम सिरप - स्त्रियों के गर्भाशय की समस्याओं के लिये हर्बल औषधि - लिकोरिया, कमर कटना, पेडू में दर्द, अविकसित हारमोन्स, कठिन दिनों के दर्द, खून की कमी, थकान व कमजोरी, अनियमित महावारी में सहायक

    कुमकुम सिरप - स्त्रियों के गर्भाशय की समस्याओं के लिये हर्बल औषधि - लिकोरिया, कमर कटना, पेडू में दर्द, अविकसित हारमोन्स, कठिन दिनों के दर्द, खून की कमी, थकान व कमजोरी, अनियमित महावारी में सहायक

    Regular price ₹ 689.00
    Regular price ₹ 810.00 Sale price ₹ 689.00
    Save 14% Sold out
    Tax Included and Shipping Free.
    Style

    स्त्रियों के स्वास्थ्य एवं सौन्दर्य के लिये हर्बल औषधि

    उपचार में सहायक
    1. महावारीनियमित समय पर न होना, रूक-रूक कर  होना या  लम्बे  समय तक  होना,  चक्केदार  होना  अथवा  अधिक  कष्ट  से  होना ।
    2. नलों में सूजन, पेडू में दर्द, कमर कटना, शरीर 
    हर समय थका थका  सा  रहना,  चक्कर  आना ।
    3. डिम्बकोषपूर्ण विकसित न होना, कमजोर बनना या 
    बनते ही छिन्न हो  जाना  जिस  कारण  सम्भोग  के  समय  गर्भधारण  न  होना,  गर्भ  बार-बार  गिर  जाना  अथवा  सम्भोग  की  इच्छा  में  कमी  आ  जाना।
    4. यौन अवस्था शुरू  होते  समय  हारमोन्स  का  पूर्ण  विकास  न  होना,  शरीर  दुबला  पतला  रहना,  वक्ष  (Breast)  पूर्ण  विकसित  न  हो 
    5. पाना  तथा  चेहरे  पर नि खार  न  आना,  मासिक  धर्म  देर  से  शुरू  होना ।
    6. पीठ में, कमर  व  पिडलियों  में  दर्द  बने  रहना,  शरीर  में  बेचैनी  व  मन  चिड़चिड़ा  सा  रहना,  भूख  न  लगना,  तलवों  में  जलन  व  पसीने  तथा  शरीर  में  कमजोरी  व  आलस्य  बना  रहना ।
    7. लिकोरिया कितना भी पुराना क्यों न हो, पतला हो 
    या गाढ़ा चिपचिपा हो या बदबूदार ।
    8. डिलीवरी के बाद योनि का शिथिल पड़ जाना एवं 
    हिप्स व शरीर अनावश्यक रूप से बढ़ जाना । 
    कुमकुम सिरप का सेवन योनि सभी विकारों को दूर करने में सहायक है। गंदे खून की पूर्ण सफाई व महावारी निश्चित समय पर सुचारू रूप से शुरू करने में सहायक करता है।

     

    विशेष

    1. कुमकुम सिरप अत्यधिक दुर्लभ एवं शुद्ध (आधुनिक मशीनों से गुणवत्ता की जांच के उपरान्त) जड़ी-बूटियों से तथा पुरानी आसव पद्धति को छोड़कर नयी विश्व स्तरीय विकसित Extract पद्धति द्वारा गया है। यह स्त्रियों की ऊपर लिखी बीमारियों में अत्याधिक तेजी से कारगर होता है।

    2. कुमकुम में मौजूद तत्वों से शरीर की कमजोरी, बेचैनी, आलस्य दूर हो जाते है तथा शरीर सुडौल, प्राकृतिक ताजगी से भरपूर चुस्त हो जाता है। चेहरे पर निखार लाकर शरीर को प्राकृतिक सौन्दर्य प्रदान करता है।

    3. जो स्त्रियाँ अपने शरीर को सुन्दर, सुडौल, स्वस्थ रखना चाहती है और अपने शरीर के लिये कुछ करना चाहती है वे स्त्रियाँ वर्ष में पाँच बोतल का अवश्य सेवन करें।

    कुम-कुम सिरप केवल एक औषधि ही नहीं नारी के लिये 

    एक वरदान है।


    सेवन विधि : तीन-तीन बड़े चम्मच एवं एक कैप्सूल सुबह एवं शाम, ताजे पानी के साथ, खाना खाने के बाद | मासिक धर्म के दौरान भी दवा का सेवन करते रहें । अथवा वैद्य चिकित्सक के परामर्शानुसार सेवन करें 
    परहेज : चाय, चावल, लाल मिर्च, तेज मसाले एवं तले भुने सामान का सेवन न करें ।

     

    Kum Kum® herbal tonic for women

    Due to work load and stress, some women are unable to manage their coordination between work and health properly, so their reproductive cycle or natural biological clock is affected, which increases the possible risk of diseases. Many complications develop in normal body rhythm due to workload and stress, use of excess medicines, physical inactivity, hurried and worried life, insufficient sleeping time, etc.; thus it results in disturbed women's natural biological clock and imbalanced normal physiology of the body as well as hormone level.

    The outcome of this lifestyle leads to many disorders, which is a major problem worldwide. Negligence towards their health and ignorance towards natural rhythm badly affect the balance of hormones that play a vital role in a woman’s body. Ultimately, all these disturb the normal body physiology that leads to many disorders in female reproductive health like menstrual disorders such as heavy & scanty bleeding, lack of proper menstruation, painful menstruation, post-menopausal syndrome, ovarian disorders, white discharges, ovarian cysts, and uterine fibroids etc. All these effects develop secondary problems like weakness, anaemia, fatigue, body pain, headaches, depression, obesity and other severe health complications. Kumkum has been specifically designed to promote excellent health and beauty of women, promotes blood purification, glowing of a skin, acne free skin, maintaining body shape etc.

    Kumkum Tonic is made specifically to support the female reproductive system, reproductive glands and organs. Its special herbal extract supports menstrual and premenstrual health and comfort, for women who have difficulty during their menstrual cycle.

    This product is suitable for all women, It is also suitable for helping those who have irregular, difficult or painful periods. Its natural astringent properties tighten, rejuvenate, and beautify the skin. It gives vitality to the uterus and its layers.

    Kum Kum® Syrup Benefits

    1. It controls all types of leucorrhea and effectively reduces abnormal discharge and odor, whether it has been occurring for years or it has been occurring at any severe stage.

    2. Irregular menstruation & shifting of dates of period, Interrupted menstrual cycle & irregular bleeding or excessive bleeding over the period. Cramps or painful menstruation.

    3. Inflammation in the uterus, pain in the lower back and lower abdomen, feelings of tiredness and dizziness.

    4. Problems related to undeveloped hormones at the starting of puberty due to which causes lean body structure, undeveloped breast, non- glowing face, acne problems and late start of menstrual cycle.

    5. After delivery, unneeded body weight and hips are also useful in tightening vaginal walls.

    6. Persistent pain in back, lower back & calf muscle, nervousness, anxiety & peevishness, loss of appetite, sweating and burning sensation in soles and palms, Laziness and weakness of the body.

    7. Painful conditions and inflammations associated with leucorrhoea

    8. Removing natural toxins and tridosha from the body helps to boost immunity and rejuvenate the body.

    Kumkum will clear out the toxic and clotted blood in the uterus in the present menstrual cycle, and the next menstrual cycle will start at the right time and normally.

    Kum Kum® Syrup Speciality

    1. Kumkum syrup has been scientifically manufactured from the rarely found pure herbal drugs (after quality analysis by advanced machines) and these pure herbal drugs are processed through various Advanced Technologies of Extraction Procedures rather than old Aasav process (Ayurvedic fermentation). This is effectively beneficial in the above described women's diseases.

    2. Weakness of the body, anxiety, and lethargy are eliminated from the body by the herbs present in Kumkum, and the body becomes fit, active, and full of natural freshness. It gives a glow to the face by providing natural internal beauty to the body.

    3. Women who want to maintain a beautiful, fit and healthy body must take five bottles a year.

    Product Information & Specification

    Customer Reviews

    Based on 4 reviews Write a review
    View full details
    • अशोका

      इसे गर्भाशय रसायन कहा जाता है, कठिन दिनों में रक्तस्त्राव के नियंत्रण एवम् ल्यूकोरिया को ठीक करने में सहायक है।
    • लोध्रा

      इसके फाइटो-केमिकल हॉर्मोन्स को सक्रीय करने में सहायक है, म्यूकस स्राव को कम करके ल्यूकोरिया की समस्या में सहायक है
    • शतावरी

      महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सर्वोत्तम शक्तिवर्धक औषधि है, गर्भाशय के विषाक्त पदार्थों को दूर कर,प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है।
    • अजवाइन

      माहवारी के समय दर्द, समय से न होने की समस्या एवम् अनियमितता को दूर करने में सहायक है, अपचन की समस्या को दूर करता है।
    • अश्वगंधा

      ऊर्जा को बढ़ाता है और शरीर में संजीवनी की तरह काम करता है, तनाव हार्मोनकोर्टिसोल को नियंत्रित कर तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है।
    • दारुहल्दी

      यह पेडू की सूजन एवम् दर्द में उपयोग किया जाता है, सूक्ष्म जीवों जैसे-बैक्टीरिया, वायरस, कवक, प्रोटोजोआ, हेल्मिन्थ्स आदि के संक्रमण में उपयोगी है।
    • धनिया

      यूरिनरी ट्रैक (मूत्राश्य) की जलन, संक्रमण की समस्या, पाचन शक्ति और अंदरूनी ऐंठन में प्रभावी है। यह स्वस्थ माहवारी चक्र के क्रियान्वन में मदद करता है।
    • नागकेशर

      एंटीसेप्टिक संक्रमण को रोकने एवम् मासिक धर्म चक्र के दौरान रक्तस्राव से जुडे रोगों और अत्याधिक रक्तस्राव और ल्यूकोरिया में बहुत उपयोगी है।
    • काला जीरा

      यह गर्भाशय की मांसपेशियों को सौम्य करता है, कठिन दिनों में ऐंठन को कम करता है। इसमें वायु नाशक एवम् माताओं में दूध में बढ़ोतरी जैसे गुण होते हैं।
    • पुनर्नवा

      एक विश्वसनीय रक्त शोधक है, यूरिनरीडिजीज, ल्यूकोरिया, आयरन की कमी (एनीमिया) आदि समस्याओं में सहायक है और लिवर की कार्यक्षमता को बढ़ाता है।
    • जीवंती

      गर्भाशय की अति सक्रियता को कम करती है, अनियमित मासिक धर्म और ल्यूकोरिया में लाभकारी है। यह माताओं में दूध के प्रवाह में काफी वृद्धि करती है।
    • चित्रक

      माहवारी नियमित करता है। इसके अलावा गोनोरिया, सिफिलिस, टीबी, सूजन व दर्द में लाभदायक है। पाचन शक्ति बढ़ाता है और मोटापा कम कराता है।
    1 of 12
    Free shipping
    Order today, receive tomorrow
    Price-match guarantee
    Safe money when ordering with us
    Hassle-free exchange
    Receive a slip for exchanges
    5.0 Google Reviews
    Customer satisfaction #1 priority